Love shayari

उसकी खूबसरत सी आंखेंकुछ कहना चाह रही थीवो चुप थी बेशक मगरफिर भी उसकी धड़कने शोर कर रही थीपूछा उससे उसका दिल का हालचुपके से वो गले लगा ली थीवो शायद अब रोने वाली थीइसलिए वो सहमी हुई थीवो चुप थी बेशक मगरफिर भी कुछ कहना चाह रही...

दोस्ती

ज़िन्दगी जब बेवफाई करती हैअक्सर दिल में बस एक ख्वाहिश जगती हैकह नहीं सकते खुल के हर बात किसी सेइसलिए हरपल ज़रूरत एक दोस्त की रहती है मिट जाते है हर ग़म दिलो सेजब हर बात एक दोस्त को बताते हैहोती चाहे कितनी भी परेशानियां क्यों नाहर परेशानियों से लडने की हिम्मत दे जाते...

खुदा का खेल

क्या गजब का खेल खुदा का हैफिज़ा है साफ तो मुंह पर मास्क हैए इंसान तू भी देखतू कैद है और पक्षी आजाद है