कहर

खुदा का कहर भी ज़रूरी था साहबयहां हर कोई खुदा को भूल जो गया था सारांश:: खुदा का भूलने से मतलब यह है कि आज चोरी , बेईमानी , खून खराबा, आदि आम बात हो गए जिससे ये मालूम होता है कि लोग खुदा को भूल गए है । खुदा सबसे बड़ा और सबका मालिक है वो जो चाहे कर सकता है और कहा गया है...

मुलाक़ात

उसके चेहरे की झलकआंखों को ठंडक देती हैंमुलाक़ात जब उससे होती हैतब कहीं जा के दिल को सुकून मिलती है💙