राबते उनसे कुछ कम हो गए
हम अजनबी उनके लिए हो गए
और ना जाने कैसे हवा चली
जो सबसे पहले याद करते थे , आज वो हमे भूल गए

#implicitwords_