बाद ए सबा कुछ इस कदर हसीन लगती है
छूती है जब चेहरे को, दिल को सुकून दे जाती है

  • बाद ए सबा:: सुबह वाली हवा

सारांश :: जब सुबह की हवा चेहरे पर छूती है तब शरीर में एक अलग तरह की चमक रहती है जो उसे दिन भर चुस्त रखती है। उसे काम में मन लगता है और दिल भी उसका शांत रहता है इसलिए सुबह की हवा दिल को शांत करती है