अमीरों के वजह से आया था जो
आज गरीबों को सता रहा है
अमीर तो आराम से पकवान खा रहे हैं
और गरीब अपने बच्चों को भूखा सुला रहा है।

Implicitwords_